अभिनेत्री श्वेता LGBTQ कम्यूनिटी के लिए करेंगी एक्टिंग वर्कशॉप

Shweta on LGBTQ

मेरा रंग डेस्क

भारत में सिनेमा की बागडोर आरंभ से ही प्रगतिशील सोच से जुड़े लोगों के पास रही। शायद यही वजह है कि सामाजिक सद्भाव से जु़ड़े मुद्दों पर बॉलीवुड का रुख हमेशा प्रगतिशील रहा है। इंडस्ट्री में ऐसे कई कलाकार हैं जो संवेदनशील मुद्दों पर लोगों को जागरूक करने और उसके बारे में बातचीत करने की पूरी कोशिश करते हैं।

श्वेता त्रिपाठी कुछ ऐसे ही जागरुक कलाकारो में एक हैं। वे इस महीने मुंबई और दिल्ली में LGBTQ कम्यूनिटी के लिए नि:शुल्क अभिनय और सशक्तिकरण पर आधारित वर्कशॉप का आयोजन करेंगी। श्वेता को भारतीय ऑफबीट फिल्में ‘मसान’, ‘हरामखोर’ तथा ब्रिटिश फिल्म ‘तृष्णा’ जैसी फिल्मों में अभिनय के लिए सराहा जा चुका है।

श्वेता ने कहा, “बतौर कलाकार मैं हर तरह के लोगों से जुड़ना और उनसे मिलना चाहती हूँ। जब हम अलग-अलग कम्यूनिटी के लोगों के साथ बातचीत करते हैं, तो हमें अभिनेता के रूप में भी बहुत कुछ सीखने को मिलता है। मुझे बच्चों और बड़ों के लिए वर्कशॉप करना बहुत पसंद है, क्योंकि नए लोगों से मिलना हमें नए आइडिया देता है और काम में विविधता लाने के लिए स्टडी मटीरियल भी। “

केशव सूरी और फ़राज़ आरिफ अंसारी की तरफ से भारतीय ट्रांसजेंडर समुदाय के लिए नि: शुल्क अभिनय कार्यशालाएं आयोजित की जाती हैं। यह पूछे जाने पर कि उन्होंने क्यों ट्रांसजेंडर और LGBTQIA+ कम्यूनिटी के साथ काम करने का फैसला किया, श्वेता बताती हैं, “मेरे लिए ट्रांसजेंडर कोई अलग समूह नहीं है। मैं फ़राज़ का सम्मान करती हूँ और मुझे वो विषय पसंद हैं, जिन पर वे फिल्में बनाना चाहते हैं। इसलिए जब उन्होंने मुझसे पूछा, तो मैं तुरंत तैयार हो गई। लगा कि मुझे बस यही करना था।”

श्वेता ने यह भी कहा कि वो फिल्मों में ट्रांसजेंडर अभिनेताओं का सही तरीके से चित्रण किए जाने की पक्षधर हैं। श्वेता को जल्दी ही दर्शक विक्रांत मैसी के साथ ‘कार्गो’ में देखेंगे। यह फिल्म हाल ही में मुंबई में एक फिल्म समारोह में दिखाई गई थी और इसे दर्शकों से भी काफी सराहना मिली।


LEAVE A REPLY