सोमवार, सितम्बर 27, 2021
भारत में सती प्रथा पर चैताली सिन्हा का आलेख

सती हुई तो क्या हुआ !

डॉ. चैताली सिन्हा नित्य उदित होक ना केनो सुरजो आमार जीवोने ताओ तो आलो नेई रोइलो आंधार चीरो–जीवोन पालिए जाबार तो पोथ नेई... इतिहास गवाह है इस बात का...
Simone De Beauvoir

सीमोन द बोउआर : किताबों में खोई रहने वाली लड़की ने...

औरत की नियति क्या है? वह गुलाम क्यों है ? किसने ये बेड़ियाँ कुलांचे मारती हिरणी के पैरों में पहनाई ? सीमोन द बोउआर ने अपनी किताब द सेकेंड सेक्स में इन्हीं सवालों का जवाब तलाशने की कोशिश की है।

महिलाएं अब छोड़-तोड़ रही हैं स्त्री विमर्श का मर्दाना पाठ

देवेंद्र आर्य स्त्रियों के लिए अपनी सम्वेदनाएं उड़ेलने वाले पचास ऐसे कवियों-कथाकारों की सूची बनाना चाहता हूं जो अपनी बहन या पत्नी से यह कह...
भाई दूज

औरत को कष्ट सहने की आदत पड़े इसलिए बनाए गए रीति-रिवाजों...

मंजू शर्मा भाई दूज के उपलक्ष्य में किसने ऐसी कथा गढ़ी होगी जिसमें लोकभाषा में रेंगनी (शायद अरंडी) का काँटा छोटी प्यारी बहनों को पाँच...
the married women review on meraranng

स्त्री अपनी यौनिकता पर बात करे तो पुरुषसत्ता असहज क्यों हो...

हमने 'द मैरिड वूमेन' नाम की सीरीज को चर्चा के लिए इसलिए चुना क्योंकि इस पर चर्चा कर करके जानना चाहते थे कि आखिर इस मुद्दे पर समाज इतना ढका छुपा क्यों है?
कॉरपोरेट में महिलाओं की नकारात्मक छवि से किसका नुकसान होगा?

कॉरपोरेट में महिलाओं की नकारात्मक छवि से किसका नुकसान होगा?

लड़कियां जी-तोड़ मेहनत कर रही हैं कारपोरेट में रात-दिन मेहनत के साथ खुद को स्थापित करने के लिए। इन सीरियल्स में नकारात्मक छवि से आम लोगों पर क्या असर पड़ेगा ?