Monday, August 10, 2020
Premchand

प्रेमचंद के जीवन के दो प्रसंग जो उनके स्वाभिमानी व्यक्तित्व का...

एकता प्रकाश आज आधुनिक हिंदी के पितामह की जयंती है। 31 जुलाई 1880 को जन्मे कलम के जादूगर बरसों से आज तक अपनी अद्भुत लेखनी...
Transgender sex workers in India

ट्रांसजेंडर सेक्स वर्करः जिन पर समाज से लेकर सरकार तक कोई...

शालिनी श्रीनेत जहां मजदूर पैदल जाने को मजबूर हैं, वहां की स्थिति पर और क्या बात करना। स्पष्ट हो जाता है कि हमारी व्यवस्था कैसी...
Women

नकली वर्जिनिटी एक कुंठित सोच है, इसे अपनाकर स्त्री खुद को...

निधि नित्य हाइमन (hymen), वजाइना (vagina), वर्जिनिटी (virginity) फीमेल बॉडी (female body)। लड़की का चरित्र इन शब्दों से जुड़ा हुआ है। 'नो हाइमन नो डायमंड'। ऐसा...
Independent women

हम इंसान हैं,औरतें हैं… कोई सामान नहीं

शालिनी पांडेय तुमने वन नाइट स्टैंड पर बात की मतलब तुम अवेलेबल हो। रात 11 बजे के बाद ऑनलाइन हो तो अवेलेबल हो। किसी को...
Shiv Kumar Batalvi

मुहब्बत अगर शायर बना देती है तो बिरह शिव बटावली बना...

दीपाली अग्रवाल  चेहरा यूँ कि कोई देखते ही फ़िदा हो जाए, किसी बच्चे सा मासूम। आवाज़ में चाशनी घुली थी। मुस्करा दे तो लगता कि...
प्रदीपिका सारस्वत

प्रदीपिका सारस्वत की उत्तर प्रदेश डायरी : हम एक बीमार नागरिकता...

प्रदीपिका सारस्वत तीसरे दिन सुबह हम ओल्ड पाथ व्हाइट क्लाउड के तीन पाठ पढ़ते हैं। “राजदरबार की कार्यविधि को सिद्धार्थ ने बहुत पहले समझ लिया था।...